Thursday, January 27, 2011

मेरा प्रोफाइल फोटो -२

मैंने इस बात पे पहले भी यहाँ लिखा है कि मैंने क्यूँ इस अफगानी भद्र महिला की तस्वीर बतौर "प्रोफाइल फोटो" चुना था लेकिन जब से (४ सालो से) ये फोटो हमने हमारे "सोशल नेटवर्क" तथा ब्लॉग पर लगाया है, तबसे न जाने कितने लोगो ने हमसे इसे बदलने का अनुरोध किया ...
पर हम भी डटे रहे ....
कि जब तक इन्द्रनील मेरा एक स्केच नहीं बना देते हैं ... तब तक हम इसे नहीं बदलेंगे ...
और आज ८ साल बाद वो दिन आ ही गया सुब्रमनियम अंकल, आपका ढेरो शुक्रिया जो आपने मेरी पिछली पोस्ट पर ऐसी प्रतिक्रिया दी ... कि इन्द्रनील भी कमर कसके लग पड़े और एक ही दिन में मेरा एक 3D इफेक्ट वाला स्टेंसिल पोर्ट्रेट बना ही दिया
आशा करती हूँ कि अब मेरी तस्वीर देख कर कोई घबरायेगा नहीं

23 comments:

  1. हााहाहहहहाहाहाह , बहुत सही आपका फोटो तो वास्तव में बहुत ही खतरनाक था, लेकिन अब प्यारा लग रहा है ।

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छा है....:)

    ReplyDelete
  3. प्रोफाइल आपका है,फोटो कौन सा लगाना है ये आपकी मर्जी है.(हालांकि एक जिज्ञासा मेरे मन में भी थी)लेकिन आज पता चला की सर बहुत अच्छे कलाकार भी हैं.

    आपका फोटो देखना बहुत अच्छा लगा.

    सादर

    ReplyDelete
  4. कितना तो प्यारा चित्र है तो विदेशी आयातित चित्र क्यों लगाया जाये।

    ReplyDelete
  5. इन्द्रनिल जी का आभार, मुक्ति दिलाने के लिए. यह सब इतनी ज़ल्दी हो जाने की अपेक्षा नहीं थी. आभार.

    ReplyDelete
  6. यह ज्यादा बहेतर है क्युकी आपके ज्यादा करीब है | वैसे वह तस्वीर भी किसी भी तरह से किसी भूतनी की नहीं लगती जैसा कि किसी ने कहा !

    अफगान महिलाएं के जीवन को अगर नजदीक से देखा जाए ... तो लगता है नारी वादी लोगो कि वहाँ ज्यादा जरूरत है ना कि यहाँ हिन्दुस्तान में !

    वैसे यह एक अलग ही मुद्दा है ... सो जाने दीजिये ... शुभकामनाएं आपको !

    ReplyDelete
  7. इसमें कोई शक नहीं कि स्‍केच बढि़या है। पर फोटो तो वही अच्‍छा था।

    ReplyDelete
  8. मेरी प्यारी सी बिटिया बहुत सुन्दर लग रही है। शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  9. फोटो अच्छी है.कलर भी इन्द्र नील जी कर देते तो अधिक अच्छा रहता.

    ReplyDelete
  10. बहुत बढ़िया ...इन्द्रनील जी हमारा भी धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. पहली फ़ोटो के बारे कुछ नही बोलेगे जी..... ओर दुसरी अभी देखी नही, यह जो हे यह तो एक छाया मात्र हे... अब क्या कहे? बस अपनी राम राम ले ले

    ReplyDelete
  12. बहुत सुंदर स्केच है....... आपके साथ इन्द्र नील जी को भी बधाई

    ReplyDelete
  13. अब आपको थैंक्स बोलूं कि इन्द्रनील जी कोनिर्णय नहीं कर पा रहा, पर तस्वीर बहुत अच्छी है, आभार!

    ReplyDelete
  14. आपका फोटो देखना बहुत अच्छा लगा.

    ReplyDelete
  15. बडे पहुंचे हुए कलाकार हैं भाई!

    ReplyDelete
  16. फोटो तो सच में कर रही सबको अपील जी.
    पर रंग भी भर दीजिये अब इन्द्र नील जी.

    ReplyDelete
  17. @ Kunwar Kusumesh jee
    इस में नहीं भर सकते हैं रंग जी
    ऐसी तस्वीर का यही है ढंग जी

    ReplyDelete
  18. डॉ तृप्ति जी ,
    बहुत अच्छा किया उस तस्वीर को हटा ...
    पाठक तस्वीर से बहुत प्रभावित होते हैं ....
    जब हम किसी रचना को पढ़ते हैं तो उस रचना के साथ लिखने वाले की तस्वीर खुद ब खुद सामने आ जाती है ....
    ऐसे में वो तस्वीर क्या प्रभाव डालती ....?

    अब हमें पता है ये डॉ तृप्ति जी की लिखी है ...
    शुक्रिया इन्द्रनील जी का ....
    अब कोरल को बिलकुल हटा दीजिये ...
    हो सके तो पोर्ट्रेट नहीं अपनी तस्वीर लगायें ....

    ReplyDelete
  19. बहुत प्यारा स्कैच है ..इंद्रनील जी को बधाई....

    ReplyDelete
  20. Dr. Tripti,
    Mr. Sail has done his bit, don't you think it is your turn now to reciprocate:)) we expect a lovely poem on him from you.
    मुझे ध्यान है कि प्रोफ़ाईल फ़ोटो से संबंधित पिछली पोस्ट में आपने जिक्र किया था कि आपके देवर भी फ़ोटो बदलने की रिक्वेस्ट कर रहे थे,अच्छा है सबकी फ़रमाईश भी पूरी हुई और इन्द्रानिल जी की एक और कला से हम रुबरु हुये। अब आपकी बारी, इन्द्रानील जी का आभार प्रकट कीजिये:)

    ReplyDelete
  21. आदरणीया तृप्ति जी
    सस्नेहाभिवादन !

    चलिए… एक होरर शो का समापन हुआ :)
    मेरी श्रीमतीजी तो टीवी पर ऐसे दृश्य आते ही चैनल बदलने पर मज़बूर कर देती है :)

    बहुत अच्छा स्कैच है … एकदम क्लासिक !
    इंद्रनील जी को बहुत बहुत बधाई !


    अब आपकी रीयल तस्वीर भी आ जानी चाहिए … भई , चेहरा छुपाने की ज़रूरत तो बदसूरत या ग़लत लोगों को होती है ।
    आप तो माशाअल्लाह सुंदर और सही व्यक्तित्व की धनी हैं …

    और भाई इंद्रनीलजी ने आठ साल बाद ही सही ; आपका आग्रह मान तो लिया न … !

    # अब, इस स्कैच को अपने ब्लॉग में शीर्ष पर हमेशा के लिए लगा कर रखलें… … …


    हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं !

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete

टिप्पणी के लिए आपका बहुत धन्यवाद. आपके विचारों का स्वागत है ...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...