Saturday, April 14, 2012

सच कितना?

दो दिन पहले इंडोनेशीया में धरिणी कंप हुआ और साथ साथ सुनामी की चेतावनी दी गयी | उससे कुछ देर पहले ही मुंबई के पास हलके धरनी कंप के झटके महसूस किये गए थे | बस देर किस बात की थी साथ साथ ना जाने कितने फेसबूक पेज पे मुंबई में सुनामी आएगा ये अफवाए फैलादी गयी हर कोई डरा हुआ था | मै इस खबर से बेखबर थी तभी मेरा मेसेज बॉक्स मेरी मुंबई की सहेली द्वारा अपडेट हुआ की मुंबई में सुनामी आ सकता है | हाल की मुंबई में सुनामी खबर तोड़ी अटपटी लग रही थी क्यू की सुनामी आने के के लिए कुछ खास तरह के tectonic setting होना जरुरी होता है (आप अगर जादा जाना चाहते है तो भूकंप - इन्द्रनिलजी द्वारा लिखा हुआ विस्तृत लेख यहाँ पढ़ सकते है| ), फिर भी मैंने खबरे टटोलना सुरु कर दिया, पर तब तक सोशल वेबसाइट पर अफवाओको का भंडार खुल गया था |
अब आज सुबह फिर से पश्चिम महाराष्ट्र और गुजरात में धरनी कंप की खबर आई है हाला की ये दोनों धरनीकम्प रिक्टर पैमाने पे मध्यम माने जायेंगे | फिर भी आम आदमी के मन में एक डर बना रहाता है की मै जहा रहता हू वह धरनी का प्रकोप तो नहीं होगा .. तो आईये मै आपके साथ भारत का Sesmic zoning map of India- भूकम्पीय क्षेत्रीकरण नक्शा दे रही हू | और साथ साथ यहाँ जरुर कहना चाहुगी बिना किसी वैज्ञानिक जानकारी के social sites पर अफवाए ना फैलाये |

Map source: mapsofindia.com



Thursday, April 12, 2012

किसे चुनेगे आप ?



Once there was an island on which
FEELINGS lived.
One day a storm came all the Feelings were scared.
Only LOVE made a boat and invited all the Feelings to escape.

All the Feelings came to the boat but One was missing. LOVE came down to see who it was.

It was EGO…..
LOVE tried a lot to bring EGO on the boat but couldn’t Succeed… All the other Feelings went away, but LOVE died because of EGO…

कितना सच है हम सब इस भावनाको महसूस करते है पर न जाने क्यू हम अपने अहंकार पे काबू नहीं कर पाते, किसी न किसी रूप में अहंकार फिर अपना सर उठा ही लेता है|
कितने प्यारे दोस्त /रिश्ते हम गवा बैठते है इसकी वजह से समझ पाते है, पर अहंकार इतना हावी रहता है की मै क्यू पीछे हटु ये सोचकर दूरिया बढ़ जाती है और फिर से प्यार मर जाता है|


चित्र साभार गुगुल सर्च


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...